Baba Ramdevji Thane Khamma Ghani

Baba Ramdevji Thane Khamma Ghani

Baba Ramdevji Thane Khamma Ghani

बाबा रामदेवजी ओ थाने खम्मा घणी,
अजमल जी रा कवरा थाने खम्मा घणी,
बाबा रामदेवजी ओ थाने खम्मा घणी,
बाबा रामदेवजी ओ थाने खम्मा घणी,
अजमल जी रा कवरा थाने खम्मा घणी,

थे मरूधर रा हो देव थारी, ध्वजा फिरूके सारे देश में,
साचा मॅन से धावे उनरो रो, जन्म सफल होवे मलका,
।। माता नेणाधरा रा लाल थाने खम्मा घणी ।।
।। अजमल जी रा कवरा थाने खम्मा घणी ।।

शिर सागर में अजमल जी ने, धणियो ते दीनो वरदान जी,
शिर सागर में अजमल जी ने, धणियो ते दीनो वरदान जी,
मास भादव री बीच चाँदनी, ओउ रखान थारो मंन जी,
धारा प्रीतम सू देव पधारा, बालक बनने आपजी,
पानी रो तो दूध बनगो, मंडगा रे कुकु रा पगल्या,
।। रणथोड का अवतारी थाने खम्मा घणी ।।
।। बाबा रामदेवजी ओ थाने खम्मा घणी ।।

मक्का सु मिल पीर पधरया परखन रामा पीर,
आप कहो रामदेव आयो पीरा जिमो मीठी खीर,
बोल्या पीर कटोरा म्हारा रहग्या मक्का मदीना,
वही कटोरा म्हारे आवे ज़द तारे घर जीमा,
तुरंत रामदेव भुजा पसारी परचो पीरा ने देयो आपजी,
पलक झपकता आया कटोरा पाँचू पीर जीमा थापजी,
पीर यू बोला मैं तो पीर हां पीरा रा पीर थे हो बापजी,
जात पात रो भेद मिटायो कोई ऊचो कोई नीच जी,
दुष्ट न तो मार भगावण आया भागता रे बीच जी,
।। थे तो पीरा रा हो पीर थाने खम्मा घणी ।।
।। बाबा रामदेवजी ओ थाने खम्मा घणी ।।

लाछा बाई रो ब्याव रचायो दयाजे दिनो आको राज जी,
आप बसाया गाँव रणुचो जाग्या जोधाण रा भाग जी,
बाई सुगना रो पूत जिवाओ भोथा से जज जी,
भक्ता रा हो थे रखवाला थारी महिमा रो पायो कोनी कोई पार जी,
।। थे हो भक्ता रा आधार थाने खम्मा घणी ।।
।। बाबा रामदेवजी ओ थाने खम्मा घणी ।।

डलजी सोगर रे घर में बेटी जन्म ने कराई बाई पांगली,
सपना में बाबा मिलया रामदेव पगा चलाई पकड़ आंगली,
बोली में परणू कुंवर रामदेव जद म्हारा सपनो होवेला सच जी,
जब बिन्द बण्या रामदेव रानी नेतल री लाज जी,
अरे पगा चलाई पकड़ आंगली नेटाल रो सपनो करयो साँच जी,
।। रानी नेतल रा भरतार ताने खम्मा घणी ।।
।। अजमल जी रा कवरा थाने खम्मा घणी ।।

पिचरंगी फाग माथे तुरो किल्लिंग कमर बांधोड़ी तलवार जी,
पिचरंगी फाग माथे तुरो किल्लिंग कमर बांधोड़ी तलवार जी,
ढाल पीट पर हाथ में भाला लीले घोड़े रा असवार जी,
लाछा सुगना करे आरती चवर ढोलावे हरजी आपजी,
डाली बाई नाचे गावे लेवे तंदूरो हरजश आपरा,
।। थे हो कलजुग रा भगवान थाने खम्मा घणी ।।
।। बाबा रामदेवजी ओ थाने खम्मा घणी ।।

काई मैं गावा महिमा थारी महिमा रे पायो कोनी पार जी,
काई मैं गावा महिमा थारी महिमा रे पायो कोणी पार जी,
कारज थे सारो पार उतारो गिरता पड़ता ने लीजो थाम जी,
लिखे जोगिडो गावे इन्द्र धुन बनावे शिवराम जी,
लिखे जोगिडो गावे इन्द्र धुन बनावे शिवराम जी,
।। बाबा सबरी रा रो लाज रखो थाने घणी ।।
।। बाबा रामदेवजी ओ थाने खम्मा घणी ।।

मरुधर रा हो देव थी धव्जा फरुके थारा देश में ,
साँचा मन से धयावे जिणरो जनम सफल होवे मालका,
।। माता नेणाधरा रा लाल थाने खम्मा घणी ।।
।। अजमल जी रा कवरा थाने खम्मा घणी ।।


Leave a Reply

Your email address will not be published.