Dil Se Dil Bharke Na Dkehi Murati Siya Ram Ki

Dil Se Dil Bharke Na Dkehi Murati Siya Ram Ki

Dil Se Dil Bharke Na Dkehi Murati Siya Ram Ki

दिल से दिल भरके ना देखि मूर्ति सियाराम की
हर दिल के अंदर बसी है झांकी सियाराम की

भगत हो तो ऐसे हो जैसे है हनुमान जी
सीना फाड़ करके दिखाई मूर्ति सियाराम की
दिल से……….

भगत हो तो ऐसे हो जैसे है प्रह्लाद जी
कर्म खम्बे में दिखाई मूर्ति सियाराम की
दिल से……….

भगतन हो तो ऐसी हो जैसी मीराबाई जी
जहर को अमृत बनाया जय जय सीताराम की
दिल से..


Leave a Reply

Your email address will not be published.